Friday, September 26, 2008

दिखावटी प्यार (Dikhavati Pyaar)

After my last poem, I saw others are also writing on the similar theme, So I thought of taking a dig at the romantic angle. Here is what I got,

तेरे आने कि आस हैं, तुझे पाने कि प्यास हैं,
ऐसा सोचने वालों कि सोच ही कितनी बकवास हैं,
मीठे मीठे बोल बोल कर इम्प्रेस करना आज आर्ट हैं,
एक मिलन कि बेला खातिर बनते सभी स्मार्ट हैं,
करते हैं वोह प्यार कि बातें, पर मन में कोंई और ही आस हैं,
और जितने भी दीवाने हैं जग ज़ाहिर,
सबकी पागलखानों को तलाश हैं,
तेरे आने कि आस हैं, तुझे पाने कि प्यास हैं,
ऐसा सोचने वालों कि सोच ही कितनी बकवास हैंll

~विकाश

UPDATE: (Adding the English spellings to aid people with trouble reading Devnagari script & also a very good response by one of the colleagues.)

Tere aane ki aas hain, tujhe paane ki pyaas hain;
Aisa sochane walon ki, soch hi kitni bakwaas hain;
Meethe meethe bol bol kar, IMPRESS karna aaj ART hain;
Ek Milan ki bela khatir, bante sabhi SMART hain;
Karte hain woh pyaar ki baatien, par mein koi aur hi aas hain;
Aur Jitne bhi deewane hain jag jahir;
Sabki pagalkhane ko talash hain;
Tere aane ki aas hain, tujhe paane ki pyaas hain;
Aisa sochane walon ki soch hi kitni bakwaas hain!!
~Vikash


I received an equally good response from one of my colleague Shubhajit Kundu for this, which I will mention here..

लिखते लिखते भूल गए, तुम्हारे यहाँ भी काफ़ी हम-राज़ हैं,
अब यह मत कहना जो खाली घूम रहे हो, उसपर तुमको नाज़ हैं,
हमको मालुम हैं की तुम्हे भी किसी की तलाश हैं,
तू भी कम थोड़े ही बदमाश हैं.
जो कहता हैं की यह सब बकवास हैं,
शायद खो चुका अपने हवास हैं,
या फिर अन्दर से उदास ऊपर से बिंदास हैं.

Likhate likhate bhul gaye, tumhare yahaan bhi kaafi hum-raj hain;
Ab yeh mat kehna jo khali ghoom rahe ho, uspar tumko naaz hain;
Humko malum hain ki tumhe bhi kisi ki talaash hain;
Tu bhi kam thode hi badmaash hain;
Jo kehta hain ki yeh sab bakwaas hain;
Shayad kho chuka apne hawaas hain,
Ya fir andar se udaas, upar se bindaas hain!!

2 comments:

Pappul 9/26/08, 1:55 PM  

chhoo gaya re ... chhoo gaya ... kya soch hai ... bemisaal ... !!

Vikash Kumar 9/26/08, 7:19 PM  

Thank you thank you.. also check out my next creation (my personal best by far) "Aashayein".

About This Blog

Followers

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP